Thu. Dec 1st, 2022

मन के प्रकार

आपने कई किताबों में पढ़ा होगा कि हमारे मन के दो भाग होते हैं पहला चेतन मन और दूसरा अवचेतन मन जिसे हम इंग्लिश में conscious एंड unconscious Mind कहते हैं!

चेतन मन की कार्यप्रणाली

हम जिस भी चीज पर फोकस करते हैं ध्यान लगाते हैं वह सारा कार्य चेतन मन द्वारा संचालित होता हैं ! चेतन मन केंद्रित रहता है!

अवचेतन मन की कार्यप्रणाली

तथा बाकी सारी वही चीज है जिस पर हम ध्यान नहीं लगाते वह सारा हमारे अवचेतन मन से नियंत्रित होता है अवचेतन मन केंद्रित नहीं रहता!

उदाहरण

मान लीजिए आपके सामने एक ब्लैक बोर्ड रखा है और उस पर हमने चौक से एक बिंदु अंकित किया है, तो वह बिंदु हमारे चेतन मन को Represent करेगा तथा जो पूरा ब्लैक बोर्ड है वह हमारे अवचेतन मन को Represent करेगा! अच्छा आप समझ सकते हैं कि हमारे अवचेतन मन कितना बड़ा canvas लिए हुए हैं! इसी चीज को समझ के हमारे ऋषि-मुनियों ने जो भी सारी विद्याए उत्पन्न की सभी अवचेतन मन से संचालित होती है क्योंकि चेतन मन का कार्य Limited है परंतु अवचेतन मन का कार्य Unlimited है परंतु दोनों की ही आवश्यकता है हैं चेतन मन का कार्य अवचेतन मन नहीं कर सकता था और अब चेतन मन का कार्य चेतन मन नहीं कर सकता!

By shrinnn

I am this website's (Shrinnn.Com) Author and manager. In this website I hope, you guys will enjoy a lot and you may get knowledge, details, nature and behavior about various topics including Famous Animals, Science Fiction, Ancient History, Trending Facts and many more.

Leave a Reply