Fri. May 20th, 2022

 अमेरिका और चीन के साथ परमाणु अप्रसार संधि के लिए बातचीत की तैयारी कर रहा है! पेंटागन की एक रिपोर्ट के अनुसार चीन 2030 तक अपने जखीरे में लगभग 1000 परमाणु हथियार जमा कर लेगा! वर्तमान में चीन के पास लगभग 350 परमाणु हथियार है अमेरिका के डर का सबसे बड़ा कारण चीन के पास बेहतर तकनीक का होना है!

 चीन ने हाल में बीएफ 17 हाइपरसोनिक मिसाइल विकसित की है

यह मिसाइल ध्वनि की रफ्तार से 5 गुना तेजी से किसी भी टारगेट को मार सकती है अमेरिका राष्ट्रपति जो बाईडॉन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच हाल में हुई वर्चुअल बैठक के बाद अमेरिका ने कूटनीतिक चैनलों में से परमाणु अप्रसार की संधि के लिए गंभीरता से प्रयास करने शुरू कर दिए हैं!

 बाईडॉन  के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जैक सुलीवन का कहना है कि मैडम और जिनपिंग की बैठक के बाद अब इस प्रकार की संधि की पहल के लिए अनुकूल परिस्थितियां हैं!

 लेकिन इसके लिए चीन की ओर से भी सकारात्मक संदेश आना चाहिए चीन के साथ ऐसी कोई भी संदीप होने से एशिया प्रशांत क्षेत्र में शांति की स्थापना हो सकेगी लेकिन इसके लिए अमेरिका को चीन पर भू राजनीति दबाव डालने होंगे!

 बदलते समीकरणों में अमेरिका को रूस से कहीं ज्यादा चीन की बढ़ती सैन्य ताकत से खतरा हैं 

 सबसे बड़ा खतरा है चीन की एंटी सेटेलाइट तकनीक

  • एंटी सेटेलाइट तकनीक से चीन अमेरिकी सेटेलाइट व अर्ली वार्निंग सिस्टम को पंगु बना सकता है
  • रूस के समान अमेरिका के पास चीन से ज्यादा कोई न्यू कलर हॉट लाइन भी नहीं है
  • चीन ने हाइपरसोनिक मिसाइल ओके डेढ़ सौ से ज्यादा टेस्ट किए अमेरिका 9 कर पाया है
  • चीनी हाइपरसोनिक मिसाइल में आड़ी तिरछी उड़ान की क्षमता है 

By shrinnn

I am this website's (Shrinnn.Com) Author and manager.

Leave a Reply